Posts

One Sided love story...........|

Image
मैसेज टाइप होने से पहले डिलिट हो जाता है,
तुमसे बात क्या करु कुछ समझ नही आता है।
मेरे मैसेज का रिप्लाइ दे देती हो अक्सर तुम,
पर ना जाने ये दिल तुमसे और क्या क्या चाहता है।

दिल की बात बता देते, पर डर लगता है,
तीन बार unfriend हो चुका हु,
अब नही हटना चाहता,बस ये मन यही चाहता है।

बाते तुम्हारी लोग अक्सर मेरे से सुना करते है,
कहते है, कौन है बला जिसका जिक्र ये करते है,
तुमसे मिले मुझे एक लम्बा अरसा हो गया है,
और जैसे कल ही की बात हो, वैसे ये लफ्ज बँया करते है।।



"मुझे तुम्हारी खुद से भी ज्यादा परवाह है,
खुद को भी कभी लगने नही दिया,
कि प्यार मेरा बस एक तरफा है।"



तुम आओगी क्या इस बार...........।

Image
आखिरी मुलाकात में कुछ बोला नही तुमसे,
जो कहना था वो भी कहाँ कहा मैने तुमसे,
तुम्हारी बाते सब सुनी मैने
अब तुम भी सुनोगी क्या,
एक बार मिलना है तुमसे ,
तुम आओगी क्या ............?

वो स्कूल टाइम था
गलती सबसे होती है।
नादानी तो बचपन में हुई,
अब तो तुमसे महोब्बत होती है
अब गलती को सुधारना है मैने
खोमोशी को लफ्जो में बया करना है
एक बार मिलना है तुमसे
तुम आओगी क्या ...........?

तुम्हे याद करना अच्छा लगता है
तुम्हारी बात करना अच्छा लगता है
तुमसे मिलने के साथ आज कल
तुममे खोना अच्छा लगता है
येही बात बतानी है तुमको
एक बार मिलना है तुमसे
तुम आओगी क्या ...........?

वक्त आज कल कहाँ जाता है
पता नही चलता
लिखता हु बस तुमपे
लेकिन कोई शब्द ही नही मिलता
सोचता हु क्या लिखु तुमपे
जो पढ़ लो तुम,
कुछ लिखा है मैने सुनाना है तुमको,
एक बार मिलना तुमसे
तुम आओगी क्या  ............?

हकीकत में तो बरसो से नही मिला
ख्वाबो में तो मिला हु बार - बार
सफर मेरा खत्म हो
उससे पहले मिल लेना एक बार
तस्वीर में कब तब दीदार करु तुम्हारा
कभी सामने भी आ जाओ एक बार।
मेरी तकलीफो को छोड़ो
तुम कुछ बताना इस बार
एक बार मिलना है तुमसे
तु…

वो सर्वोदय था.....।

Image
घर से ज्यादा समय तो मै वहाँ रहता था,
दोस्त, टीचर और वो ग्राउण्ड
हमेशा मेरे साथ रहता था।
हमेशा तो नही रहा,
पर ज्यादातर मै क्लास के बाहर रहता था।
Principal sir का डण्डा अब भी याद है,
जिससे भागने पर मार खाया करता था।
वो सर्वोदय था.....।

टीचर्स के अलग अलग नाम बनाना
शौक नही एक रिवाज था।
ठाकुर दा के समोसे,
रमू चाचा की चाऊमिन,
और ग्राउण्ड के वो इकलौते पेंड के नीचे,
बैठना भी लाजमी था।
गर्मीयो में अन्दर, सर्दीयो में बाहर
बैठना भी लाजमी था।
वो सर्वोदय था......।

पाण्डे सर का गणित,
सिजवाली सर की Chemistry,
Physics के लिए रिंकु मैम का इन्तजार
भी लाजमी था।
हरीश सर की biology,
सुरेश सर की संस्कृत,
तो फिर चम्पा मैम की,
Art पढना भी लाजमी था।
वो सर्वोदय था.......।

वर्मा सर ने पढाया Disaster,
Shivraj सर ने पढाया English,
तो नयाल सर की हिन्दी पढना लाजमी था।
PTI sir का किक्रेट
तो फिर से मेरा
घर को भागना लाजमी था।
हरीश सर जो principal थे,
हमने उनक़ो फिर भी chemistry chemistry ही बुलाना था।
वो सर्वोदय था......।
जहाँ हुआ करती थी हर पल मौज,
वो मेरा स्कूल सर्वोदय था.....।।



https://www.yourquote.in/lucky-kunjwa…

सर्वोदय इण्टर कालेज कि बात है.....................

Image
जब मै उससे मिला
मेरी क्लास 11 कि बात थी।
वो छोटे शहर छोटे स्कूल नही,
ये मेरी जिंदगी की बात थी।
New admission हुआ उसका
फिर बस पूरे स्कूल में उसकी बात थी।
ये मेरे स्कूल,
सर्वोदय इण्टर कालेज कि बात है।

मै बैठता था उससे 3 लाइन दूर
फिर भी वो मेरे पास थी।
हम क्लास में 40 बच्चे
पर सबके लिए वो खास थी।
ये मेरे स्कूल
सर्वोदय इण्टर कालेज कि बात थी।

मै क्लास का Average बच्चा
उसमें Topper's वाली बात थी।
मै नही पुरा स्कूल पागल था
उसमें कुछ तो खास बात थी
ये मेरे स्कूल,
सर्वोदय इण्टर कालेज कि बात थी


https://www.yourquote.in/lucky-kunjwal-lcui/quotes




अगर मुक्कमल हुआ इश्क तो मिल जायेगे.....।

Image
मेरा साथ अच्छा लगे तो रहना
मर्जी तुम्हारी वरना लौट जाना
कोई जोर जबरदस्ती नही
इश्क है कोई बन्दीस नही
हाँ, एक दफा वजह जरुर बताना दूर जाने की
मेरा हाथ छोड़,
किसी और की बांहे थामने की
कहाँ हो, कैसे हो ये जरुर बताना,
तुमसे मिलने आयेगे.....
अगर मुक्कमल हुआ इश्क तो मिल जायेगे.....।

याद रखना कोई है जो आज भी जिक्र करता है
मोहब्बत मत कहना,
कहना आज भी फिक्र करता है
हाथ थाम कर चलना सपना था उसका
देख वो आज भी अकेला चलता है
मेरे होने से दिक्कत हो, तो बताना
हम अभी चले जायेगे......
अगर मुक्कमल हुआ इश्क तो मिल जायेगे......

एक तरफा इश्क हमेशा रहेगा
हाथो में हाथ तो नही
तेरा एहसास तो रहेगा
याद रखना उन बातो को
जो कभी मैने कही थी
यादो में ना सही,
बातो में तो आयेगे.......
अगर मुक्कमल हुआ इश्क तो मिल जायेगे......

यादो को जीने का सहारा नही बनाऊगा
आपनी हालातो का जिम्मेदार
तुम्हे कभी नही बताऊगा
तेरे लौट आने के सपने को
हकीकत में भूल जाऊगा
कभी लौटने का मन करे, तो बताना
हम लेने जरुर आयेगे.....
अगर मुक्कमल हुआ इश्क तो मिल जायेगे.......

तेरा होना ना होना अब एक बात है
क्योकि मेरा हर दिन
एक अन्धेरी रात है
पुकारता हु त…

एक अजीब तजूरबा मेरी आँखो का होने वाला था............|

Image
एक अजीब तजूरबा मेरी आँखो का होने वाला था,
दिनभर हारा मै रात ख्वाब में जीतने वाला था।

कभी मुलाकात नही हुई मेरी, शहर से तेरे,
जब भी मै उठा तेरा शहर सोने वाला था।।

ये सोच सोच के अब हँसी आती है मुझको,
शुरु-ए-इश्क मे कितना मै रोने वाला था।।

बदल दी धुन महफिल-ए-दुनिया कि तुने,
वरना हर एक शक्स मेरा होने वाला था।।

अकेले उस सन्नाटे में एक हँसी सुनाई दी मुझको,
मै तो उसकी याद में पलके भिगोने वाला था।।

अच्छा हुआ जला दिया मुझको नफरत कि आग ने,
वरना ये इश्क तो मुझको दफन करने वाला था।।

आज भी जिंदा हुँ एक याद बन उसके जहन में,
वरना इश्क का दुश्मन तो उसे भी मिटाने वाला था।।

लोगो के दिलो में छोड़ गया मै परछाई अपनी,
वरना इस भींड भरी दुनिया मे मुझे कौन जानने वाला था।।


Hostel memories.............

Image
वो Junior's की ragging , senior का सहारा,
याद है मुझको, govt. Poly Lohaghat का नजारा।

वो Hostel की यादें, Room no 15 हमारा,
बहुत याद आता है, Jurassic park का नजारा।

Bisht जी कि lecture, पप्पू दा का खाना,
Hostel की गाली, फिर कैलाश सर का बजाना।

"खाना खा लो रे" पप्पू दा का चिल्लाना,
बच्चो का उसको जवाब में गाली सुनाना।

याद है मुझको Hostel  का जमाना।।

ताऊ के पराठे, दिन में खाना
नास्ता ना करके, अपने पैसे बचाना।

भगवान जी का बिन बताये कुछ भी ले जाना,
जादू sir का "भगवान मेरे बेटे" चिल्लाना।

अभिषेक दा का Bullet वाला गाना बजाना,
एक दिन बन्दर का उनका फोन लेकर जाना।

छोटे भाई से ही मेरी Ragging करवाना,
2 के पहाडे में बेधुन मुझको नचवाना।

नवरात्री में Hostel में भजन कराना
रात को भाग कर, झुमा को जाना

याद है मुझको Hostel का जमाना।।


https://www.yourquote.in/lucky-kunjwal-lcui/quotes